All posts in Funny Hindi Poetry on Demonetisation – India

कल एक बुरा ख्वाब देखा, ख्वाब में किसी ने कहा, तेरा नेट बंद हो गया, कसम से जान ही चली गयी थी

Poetry

error: Content is protected !!
UA-55292910-2