All posts in Funny Hindi Poetry on Gujarat Riots 2002 – India

Poetry

सब दंगाई निर्दोष हैं इसका मैं गवाह हूँ, नमश्कार मैं अमित शाह हूँ

error: Content is protected !!
UA-55292910-2