All posts in Funny Hindi Poetry on Amitabh Bachchan

Poetry

अपने दर्द की नुमायश सब के सामने न कीजिए साहिब, मरहम तो एक आध पर ही मिलेगा, पर नमक घर घर में मिलता है

error: Content is protected !!
UA-55292910-2