All posts in Funny Hindi Poetry on Rajnath Singh

Poetry

एक दिन मुर्ख बनाने के लिए अप्रैल फूल और पांच साल मुर्ख बनाने के लिए कमल का फूल इसके बाद भी कोई ना समझे वो है ब्लडीफूल

Poetry

अबकी बार पकोड़ो की सरकार! हर हर पकोड़ा , घर घर पकोड़ा

Poetry

कमल का फूल ऑल्वेज़ बनाविंग अप्रैल फूल। रहना कूल ना करना भूल, चटाना धूल।।

Poetry

सारे विरोधी हुए पस्त, कमल खिलेगा मस्त

Poetry

आज फिर आके बारिश ने कीचड़ कर दिया, लगता है “कमल” खिलने का इशारा कर दिया

Poetry

सरकार कहती है “सर्जिकल स्ट्राइक्स” के बाद पाकिस्तान “डरता” है, फिर भी “रोज़” हमले करता है

Poetry

मैं सैनिको की जान सा सस्ता.. तू राजनाथ की कड़ी निंदा सी प्रिये..

error: Content is protected !!
UA-55292910-2