Poetry

तुम सीधी बैलेट पेपर जैसी, मैं कैप्चर होता बूथ प्रिये, तुम हैक हुई ईवीएम जैसी, मैं सिग्नल देता ब्लूटूथ प्रिये

Comments are closed.

error: Content is protected !!
UA-55292910-2